An Open Letter To My EX

a0645572667_5
Note‬
:- सत्य घटना पर आधारित, काल्पनिकता का इससे कोई सम्बन्ध नहीं ।।

प्रिय EX‬

तुमसे मैंने इश्क़ किया था, और तुमने मुझसे बेवफाई । सभी रिश्ते खत्म करने के बाद भी तुम्हारी फ़िक्र कहीं ना कहीं सीने के भीतर तिलमिलाती रहती थी और उसकी जलन जब बर्दाश्त के बाहर हो गई तो तुम्हे बिना कुछ सोचे समझे तुम्हारी खैरियत पूछने के लिए mail कर दिया ।

तुम्हारे जवाब की उम्मीद भी नहीं थी और तुम इस दफे मेरी उम्मीद पर कायम रही । तुम्हारी आदत तो मगर जानी ना थी, उम्मीद तोड़ ही दी तुमने, और कुछ 2 महीने गुज़र जाने के बाद तुम्हारे नाम का एक mail मेरे inbox में मिला ।

यकीन मानो, कोई भी भाव नहीं उमड़ के आया चेहरे पर, मुझे लगता था तुम्हारे ज़िक्र पर चहक उठेगा मगर ऐसा कुछ भी नहीं हुआ और उस वक़्त महसूस हुआ कि तुम दिल से कोसो दूर निकल गयी हो ।

तुम्हारे mail को पढ़ते ही बहुत हसी आई मुझे, तुम्हारे अंदर मेरे लिए नफरत बहुत भरी थी शायद मगर तुमने भड़ास भी निकाली तो करीना कपूर कि movie ‘जब वी मेट’ के dialogue से ? और वो भी पूरे ना लिखे, कम से कम गालियाँ तो अपनी देती प्यार तो तुम्हारे भीतर है नहीं ।

मुझे एक बात ज़रा समझाओ; रिश्ता तुमने तोडा, फरेब तुमने किया, फिर ‘जब वी मेट’ के हिसाब से तो मुझे गलियां देनी चाहिए थी, सच है ना ?

अब movie की गरिमा का ख्याल तो रखना जरुरी था, इसलिए इश्क़ को किनारे रखकर आग लगा दी, आदर सम्मान जैसे लफ्ज़ भाड़ में फेक दिए, RespectGirls का नारा तो कानो से इतना दूर चला गया था जैसे धरती से आसमां ।

अपना mail box खोल लेना, तुम्हारी गालियों का जवाब दिया है शालीनता से, तुम्हे पसंद आएगा, ‘जब वी मेट’कि script सही कर के जो पहुचाई है ।

अरे! अरे! और गालियां लिखने की अब सोचना भी मत, क्योंकी भाड़ में जा चुकी है मोहब्बत और तुम्हारे प्रति इज़्ज़त । मैंने ‘Gangs of Wasseyppur’ की dvd ला के रख ली है और ‘Roadies’ के ‘Auditions’ की videos भी you tube पर देखना शुरू कर दी है, अब शालीनता वाला जवाब शायद नहीं मिलेगा तुम्हे ।

अरे ! ये भी सुनो, तुमसे बेहतर अपना जिस्म बेचने वाली औरत है, जो सामने से कहती है, बिस्तर से उठने के बाद बेवफाई ही करेगी ।।

आशिक़ क्रांतिकारी
अंकित गुप्ता “असीर” 😛

3 thoughts on “An Open Letter To My EX

Add yours

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Up ↑

Krazy Butterfly

Your Travel and Lifestyle Partner

My Simple Sojourn

How I Traveled

orrashilpa's Blog

Customizing in progress......

Aegean Vespers

Building a diminutive colossal with words for my aposiopetic heart.

Simone Antonia

My minds reflection

abvishu

जो जीता हूँ उसे लिख देता हूँ

Crumbles Away

Writing down my nonsense

Found a raft in the ocean of life. Sailing by...

Read like drinking. Breed Thinking! :)

Kavipriya Moorthy

!Scribomaniac!

Drenched Ink & Virgin Thoughts

A place to drench yourself....

The writer's blogk

A NEW AUTHOR'S TURBULENT RIDE

Adult Confessions

By turning to an adult, one would surely need to confess a lot about.

A Thousand Simple Thoughts

Just expressing my thoughts

gatlinmay

...here, there

Perfected Love

Following Jesus. Receiving Love. Unveiling Truth. Discovering God.

%d bloggers like this: